समझो तो सही मुहब्बत को ठीक से !

heloo to all respected readers.I am again here for you , This time i wrote a poem on a real truth of the 4 ever love . And it has a message too for all the society …

मुहब्बत होती नहीं मुहब्बत तो की जाती है!!

अपने यार की हर ख़ुशी हर पल बस !

अपने गम से भी ऊपर रख जी जाती है !!

समझो तो सही मुहब्बत को ठीक से !

इस जज्बे की तो इज्जत की जाती है !!

पर आज इश्क की परिभाषा फ़िल्मी है !!

पैसे के लिए परोस के अश्लीलता !

बस इसे ही प्यार समझाती है !!

आइटम सोंग्स तो छोडिये आज तो !

सन्नी लियोने भी मुहब्बत के पाठ पढ़ाती हैं !!

संस्कार बाधाओं के चलते पारिवारिक सिथति भी !

कहाँ कुछ ठीक से हमें बता पाती है !!

अज्ञानता के चलते लोग मर रहें हैं !

आतंकवाद से बड़ी संख्या प्रेम मृत्यु गिनवाती हैं !

भयानक खबर सबको ये चौंकाती है !!

आकंडे बता कर सरकार ने !

तो अपना फर्ज पूरा कर दिया !! 

मीडिया ने भी मसाला लगा कर !

टी आर पी पे कब्ज़ा कर लिया !!

कब किसी ने ठीक से मुहब्बत समझाई है !

ना किसी ने जीने की कोई राह बताई है !!

छुपते छुपाते लोगो ने दिल पे चोट खायी है !

ना समझी में अपनी जान तक गवायीं है !! 

फिल्मो की जिन्दगी हकीकत नहीं होती !

जिस्मों से कभी मुहब्बत नहीं होती !!

प्यार करना है तो कृष्ण राधे सा करो !

अलग रह कर भी जुड़ गए एक दूजे से !!

मीरा से सीखो तुम महानता प्रेम की !

बिन जिस्म मुहब्बत कैसे की जाती है !!

सोचिये क्या कहना है अब तुम्हे अपने इस जज्बे को !

जरा से अलग क्या हुए तुम्हारी तो जान ही  चली जाती है !!

©100rb

 

4 thoughts on “समझो तो सही मुहब्बत को ठीक से !

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s