सात सात एक सात (साथ) !

सात सात एक सात (साथ) !!

ये आज की तारीख नया एक इतिहास बना जाए !

साथ मिलकर चलने का सभी में जोश जगा जाए !!

मुल्क में रहने वाले सभी को प्यार से जीना सिखा जाये !

हर चीज से परिपूर्ण सपनो का एक हिन्दुस्तान बना जाये !!

अलग चलकर सिर्फ नफरतें पनपी हैं बस !

तारिख ये शायद सभी को समझा जाए !!

रहें सभी मिलझुल कर सात सात एक साथ !

हिन्दू मुस्लिम सिख इसाई !

एक साथ आ जाओ ना भाई !!

इस तारिख ने तो बात यही बताई !

मंदिर मस्जिद गुरूद्वारे रब तेरे ही तो घर है सारे !

कभी ना लड़ेंगे धरम के नाम पे साथ चलेंगे हम इंसा सारे !!

सात सात एक सात (साथ) !!!

6 thoughts on “सात सात एक सात (साथ) !

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s