Oh my bro!ओ मेरे भैया!

ओ मेरे भैया इस राखी तुमसे कुछ कहना है !

मुझे कभी ना  तुमसे नाराज रहना है !!

मैं रूठ जाती हूँ तो तुम मुझे मनाया करो !

पास बैठ के मुझे मेरी गलती समझाया करो !!

एक दिन इस आँगन से दूर चली जाऊंगी !

फिर ना कभी यहाँ लौट के ऐसे रह पाऊंगी !!

मेरे वीरा तुम ही तो मेरी जीने की ताकत हो !

मेरे भाई तुम ही मेरी जिन्दगी की हिफाजत हो !!

इस राखी अपने वीरे से बस यही कहना चाहूंगी !

तुम रक्षा करना मेरी और मैं संस्कार निभाऊंगी !!

तुम मेरे और माँ बाबा के लिए दिल छोटा न करना !

वरना मैं तो बस जीते जी ही मर जाऊंगी !!

तुम निभाना अपने फर्ज मैं अपने वादे निभाऊंगी !

बाबुल के इस आँगन को हमेशा बस खुश देखना चाहूंगी !!

©100rb

8 thoughts on “Oh my bro!ओ मेरे भैया!

    • 100rb (realoveforever) says:

      जी धन्यवाद ! इसमें भाई बहिन के किशोरावस्था की नोंक झोंक के साथ उनके अटूट प्रेम और तमाम उम्र उसे जीवित रखने का सन्देश देने की कोशिश की है मैंने

      Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s