kya vasna prem hai ?

वो जिस्मों को हमें मुहब्बत बता बैठे !! हम रेत पर महल का ख्वाब सजा बैठे ! शायद इकतरफा  दिल उनसे लगा बैठे !! उन्होंने समझने की कोशिश भी ना की ! हम अपना सब कुछ उस पर लुटा बैठे !! बानगी तो देखिये उनके प्रेम की ! वो जिस्मों को हमें मुहब्बत बता बैठे … Continue reading kya vasna prem hai ?

Stop suicides in Love !

जान देना भी तो मुहब्बत नहीं होती ! माना मुहब्बत बहुत बड़ी होती है ! पर ज़माने में कदर कहाँ होती है !! सो करने वालो संभल के करना ! कदर न मिले तो कभी ना मरना !! अब सभी दिल वालो को संभलना है ! प्रेम मृत्यु के आंकड़ों को बदलना है !! माना … Continue reading Stop suicides in Love !

उसे न छोड़ना किसी के लिए !

आज की सुबह बहुत ही खूबसूरत है ! तुझे ना सही हमें खुद की जरूरत है !! क्यूँ रोयें तेरे लिए हम जिन्दगी भर ! अब हमें भी ख़ुशी की जरूरत है !! बस इतना वादा फिर भी निभाएंगे ! अब दिल ना किसी से लगायेंगे !! हम बहुत बिखरे बहुत टूटे भी हैं ! … Continue reading उसे न छोड़ना किसी के लिए !

समझो तो सही मुहब्बत को ठीक से !

heloo to all respected readers.I am again here for you , This time i wrote a poem on a real truth of the 4 ever love . And it has a message too for all the society ... मुहब्बत होती नहीं मुहब्बत तो की जाती है!! अपने यार की हर ख़ुशी हर पल बस ! … Continue reading समझो तो सही मुहब्बत को ठीक से !

तुमको देख के चाँद भी शरमा जाता है

तुमको देख के तो ये चाँद भी शरमा जाता है ! झोंका हवा का भी बस तेरी ही जुल्फों से खेलने आता है !! निकलो गर बेनकाब तो परी हुस्न भी फीका पड़ जाता है ! हमारे दिल में देखो तुम खुद को आइना तो टूट जाता है !! हम जब देखते हैं आपको सिलसिला … Continue reading तुमको देख के चाँद भी शरमा जाता है