Ek Ahsaas kuch khas

आँखों में नमी है और दिल भी बहुत भारी है शिद्दत से उसकी तलाश आज भी जारी है मुद्दतें हो गयी जुदा हुए पर आज भी लगती हमारी है कहा था उसने भी कभी की हमेशा के लिए भूल जाऊं उसे पर क्या करूं ना भूल पाने की हमें भी बीमारी है उसे शायद प्यार … Continue reading Ek Ahsaas kuch khas

Advertisements

Oh my bro!ओ मेरे भैया!

ओ मेरे भैया इस राखी तुमसे कुछ कहना है ! मुझे कभी ना  तुमसे नाराज रहना है !! मैं रूठ जाती हूँ तो तुम मुझे मनाया करो ! पास बैठ के मुझे मेरी गलती समझाया करो !! एक दिन इस आँगन से दूर चली जाऊंगी ! फिर ना कभी यहाँ लौट के ऐसे रह पाऊंगी … Continue reading Oh my bro!ओ मेरे भैया!

मेरी तो मुमताज तुम हो

मेरे लिए तो बस तुम ही तुम हो ! सारे फूलों में गुलाब तुम हो ! आसमाँ का माहताब तुम हो ! मेरे दिल का अहसास तुम हो ! मेरी मुहब्बत का इतिहास तुम हो ! मेरे लिए सबसे खास तुम हो ! मेरा सबसे बड़ा विश्वास तुम हो ! मेरे जुबां के अल्फाज तुम … Continue reading मेरी तो मुमताज तुम हो