aaker tujhse rakhi bandhwani hai !!

आकर तुझसे राखी बंधवानी है !! मुझे तेरी राखियों की कसम निभानी है! पाक चीन को धूल चटानी है !! रक्षा करने का वचन मेरा ! मुझे वचन की आन निभानी है !! आकर तुझसे राखी बंधवानी है !! तू अपना मन छोटा ना कर ! नीयतें जिनकी ख़राब हों ! खुदा उनका साथ नहीं … Continue reading aaker tujhse rakhi bandhwani hai !!

respect for love !

Hello to all readers , hope you all are happy. Again I am here with my most awaited poem dedicated to all love believers & cultured females and males. Read it and tell me what you think. इक दिन उसने ये पुछा हमसे ! शादी के बाद मैं अपने नाम के पीछे तुम्हारा सरनेम लगाऊंगी … Continue reading respect for love !