मुझे चुप रहना है !

helloo to all , some pieces of my heart.........n hurtings. ख़ामोशी भले ही मेरी जान ले ले बस अपनी मुहब्बत की खातिर मुझे चुप रहना है ! अहसासों को घोट कर अपने ही भीतर मुझे कभी ना किसी से कुछ कहना है मुझे चुप रहना है  ! दर्द संभाले नहीं संभलता अब मुझ से बिना … Continue reading मुझे चुप रहना है !

Advertisements

ख़ामोशी की जुबान

Good evening friends this is a poem about silence power of love read it and tell me your thoughts about this.love you all ! I need your blessings always.......... ख़ामोशी की अपनी एक अलग ही खास जुबान होती है, हाल ऐ दिल की भी बस आँखों से ही पहचान होती है. अगर वो खामोश बैठे … Continue reading ख़ामोशी की जुबान