Ae Jindagi ….

ऐ जिन्दगी अब मुझे भी सुकुनों आराम दे दे !!! बिन आग दिल जलता है मेरा ! आजाद हो जाये रूह मेरी आखिरी वो शाम दे दे !! ऐ जिन्दगी अब मुझे भी सुकुनों आराम दे दे !!! तड़प बहुत है इस सीने में ! बस अब मुकम्मल तू इंतजाम दे दे !! ऐ जिन्दगी … Continue reading Ae Jindagi ….

Advertisements

Ek Ahsaas kuch khas

आँखों में नमी है और दिल भी बहुत भारी है शिद्दत से उसकी तलाश आज भी जारी है मुद्दतें हो गयी जुदा हुए पर आज भी लगती हमारी है कहा था उसने भी कभी की हमेशा के लिए भूल जाऊं उसे पर क्या करूं ना भूल पाने की हमें भी बीमारी है उसे शायद प्यार … Continue reading Ek Ahsaas kuch khas

Rape is not manhood

बलात्कार करना कहाँ की जाबांजी है। ये तो बस खुद की कायरता को शाबाशी है। किसी को पाना है तो उसका मन पाओ । चाहत रखना गलत नहीं पर पहले उसे जीवन बनाओ।

दर्द -ऐ – दिल !

लोग कहते हैं दर्द का !   खरीददार नहीं मिल पाता !!   उससे पूछ तो लो यार जिसे !   ये है मिल जाता !!   कोई कम्बख्त इसे बेचना !   भी तो नहीं चाहता !!   वफ़ा इसने भी पूरी दिखा दी !   अलग जाना ही नहीं चाहता !!   कोशिश … Continue reading दर्द -ऐ – दिल !

अक्सर झूठ बोल दिए जाते हैं!

दिल रखने के लिए  दुनिया में ! अक्सर झूठ बोल दिए जाते हैं !! रिश्तों पर बरसों के भरोसे ! इक पल में तोड़ दिए जाते हैं !! यहाँ बस कागज के टुकड़ों के लिए ! अक्सर दिल तोड़ दिए जाते हैं !! ©100rb